Saturday, December 14, 2013

मेरी हठ और तेरा इंकार

मेरी हठ और तेरा इन्कार 
कब तक चलेगा मेरे यार ?
दोस्ती में हक की दरकार 
और हक जताने पर तकरार 
कब तक चलेगा मेरे यार ? 
सोच में परिपक्व होने पर भी 
बच्चों सी हठ और मनुहार 
कब तक चलेगा मेरे यार? 
समझते हो तुम भी और मैं भी 
फिर भी झूठ-मूठ का इन्कार 
कब तक चलेगा मेरे यार? 
- गायत्री 

No comments: